घर पर ही बनाइये होली के ये 7 रंग (7 colours)

घर पर ही बनाइये होली के ये 7 रंग (7 colours)

होली के प्राकृतिक रंग – 

होली का त्यौहार रंगों का त्यौहार होता है. यह एक ऐसा त्यौहार है जिसका सभी लोग आनंद लेते हैं और आपसी गिले शिकवे भूल एक – दूसरे को रंग लगाते हैं.

खुशियां बांटने और रिश्तों में हंसी-ठिठोली की मिठास घोलने के लिए एक-दूसरे को रंग लगाने का मजा शायद ही किसी और अवसर पर मिलता है. बड़ों के साथ-साथ बच्चे कई दिन पहले से ही तरह-तरह के रंग और गुलाल खरीदने लगते हैं. लेकिन आज के दौर में बाजार में बिकने वाले रंग इतने हानिकारक व केमिकल युक्त होते हैं जिनके साथ खेलना हमारे शरीर को नुकसान पहुँचा सकता है.

होली रंग

वहीं बिना रंगो की होली खेलने की हम कल्पना भी नहीं कर सकते हैं. इस समस्या से निजात पाने के लिए हम रंगों को घर पर ही बना सकते हैं जिससे होली खेलने में हमें किसी तरह की परेशानी न हो और हम अलग – अलग तरह के आकर्षक रंगों से होली खेलना का मजा ले सकें.

इसके लिए हम आपको कुछ ऐसे सुझाव देंगे जिनकी सहायता से आप घर पर ही होली खेलने के लिए रंग बना सकते हैं –

(1) हरा रंग –

सूखा रंग बनाने के लिए –

  • सूखी मेहंदी पावडर को आप हरे रंग की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • गुलमोहर की पत्तियों को सुखाकर, बारीक पावडर बना लें, इसे आप हरे रंग की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • सूखे हरें रंग की पत्‍तियों जिसमें पालक, धनिया, पुदीना ऐसी ही कुछ हरी पत्‍तियों को पीस कर थोड़ा आटा मिला लें इससे हरा रंग तैयार हो जाएगा.

गीला रंग बनाने के लिए –

  • पालक, धनिया और पुदीने की पत्तियों का पेस्ट पानी में घोलकर गीला हरा रंग बनाया जा सकता है.
  • हरे रंग के लिए मेंहदी का इस्तेमाल करें. आप इस मिश्रण को बेहिचक पानी में घोलें.

(2) नीला रंग –

सूखा रंग बनाने के लिए –

  • नीले गुड़हल के फूलों को सुखाकर पीसने से नीला रंग तैयार कर सकते हैं.
  • गर्मियों के मौसम में खिलने वाले जकरंदा के फूलों की पंखुड़ियों को छांव में सुखाकर बारीक पीस लें. इनसे नीला रंग बना सकते हैं.
  • नीले जसवंती के फूलों से आप नीला रंग बना सकते हैं.

 

गीला रंग बनाने के लिए –

  • नीले रंग के लिए नील के पौधों पर निकलने वाली फलियों को पीस लें और पानी में उबालकर मिला लें.
  • पके जामुनों को बारीक पीसकर पानी मिला लें. इससे बहुत ही सुंदर नीला रंग तैयार किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें –

(3) पीला रंग –

सूखा रंग बनाने के लिए –

  • हल्दी और बेसन को मिलाकर आप पीला रंग तैयार कर सकते हैं. इसके लिए आप जितनी हल्दी लें, उसकी दोगुनी मात्रा में बेसन मिलाएं.
  • हल्दी और गेंदे के सूखे फूलों को पीसकर बनाया गया पाउडर भी पीले रंग की तरह उपयोग कर सकते हैं.
  • हल्‍दी को आप आटा, मैदा, मुल्‍तानी मिट्टी और टेल्‍कम पाउडर के साथ भी प्रयोग कर सकते है.
  • अमलतास, पीले सेवंती के फूलों से भी पीला रंग बनाया जा सकता है. फूलों की पंखुड़ियों को छाँव में सुखाकर बारीक पीस लें. इसमें बेसन भी मिला सकते हैं.

होली

गीला रंग बनाने के लिए –

  • गीले रंग के लिए आप एक बड़ा चम्मच हल्दी को दो लीटर पानी में मिलाकर उबाल लें. इस घोल को थोड़ा गाढ़ा कर लेने पर यह बिल्कुल पक्का रंग हो जाएगा.
  • गेंदे या अमलताश के फूल को पानी में उबालकर रात भर के लिए छोड़ दें और सुबह उससे होली खेलें.

(4) लाल रंग –

सूखा रंग बनाने के लिए –

  • लाल चंदन पाउडर में गुड़हल के फूल को सुखाकर व पीसकर मिलाएं और इसे गुलाल की जगह इस्तेमाल करें.
  • लाल रंग बनाने के लिए थोड़े से पानी में हल्‍दी मिला कर उसमें नींबू नीचोड़ दें. बस कुछ ही सेकेंड में आपको सुर्ख लाल रंग मिल जाएगा.
  • सिन्दूरिया के बीज लाल रंग के होते हैं, इनसे आप सूखा व गीला लाल रंग बना सकते हैं.

होली

गीला रंग बनाने के लिए –

  • लाल चंदन पाउडर (दो चम्मच) को एक लीटर पानी में मिलाएं और अच्छी तरह से उबाल लें. इसमें अपनी जरूरत के अनुसार पानी मिलाकर इससे होली खेलें.
  • अनार के छिलकों को पानी में उबालकर भी लाल रंग बनाया जा सकता है.
  • बुरांस के फूलों को रातभर पानी में भिगो कर भी लाल रंग बनाया जा सकता है, लेकिन यह फूल हमारे आसपास नहीं पाए जाते हैं, यह तो सिर्फ पहाड़ी क्षेत्रों में ही दिखाई देते हैं.

(5) गुलाबी रंग –

  • कचनार के फूल को रात भर पानी में भिगोने से प्राकृतिक गुलाबी रंग तैयार किया जा सकता है.
  • चुकंदर को आप गुलाबी रंग बनाने में इस्तेमाल कर सकते हैं. एक चुकंदर को पानी में रात भर भिगोएं और सुबह इस घोल को अच्छे से उबालकर गाढ़ा कर लें. इसमें जरूरत के अनुसार पानी मिलाकर इससे होली खेलें.

होली

(6) नारंगी रंग –

गीला रंग बनाने के लिए –

  • नारंगी रंग बनाने के लिए 12 बड़े प्‍याजों को आधे लीटर पानी में उबाल लें और छील लें. कुछ समय बाद पानी नारंगी रंग का हो जाएगा.
  • टेसू के फूलों को रात भर पानी में भिगोएं रखने पर पीला-नारंगी रंग बन जाएगा.
  • हरसिंगार के फूलों को पानी में भिगोकर नारंगी रंग बनाया जा सकता है.
  •  केसर को कुछ घंटे पानी में भिगोकर उसे पीस लें और इसके बाद उसे पानी मिला लें इससे गीला रंग भी बना सकते हैं.
  • एक चुटकी चन्दन पावडर को एक लीटर पानी में भिगो देने से भी नारंगी रंग बनता है.

होली

(7) काला रंग –

वैसे तो होली पर काला रंग इस्तेमाल नहीं किया जाता लेकिन कभी – कभी मस्ती करने के लिए कुछ लोग काला रंग भी लगा देते हैं. जिसके लिए आप आपके काजल या कोयले को घिस कर भी उपयोग कर सकते हैं.

हमने आपको कुछ ऐसे रंगों के बारे में बताया जिन्हें आप खुद घर में बना कर होली का भरपूर आनंद ले सकते हैं. इन प्राकृतिक रंगों का इस्तेमाल कर के आपको किसी भी तरह की त्वचा सम्बंधित समस्या का सामना भी नहीं करना पड़ेगा और होली का मजा भी दोगुना हो जाएगा.

ये भी पढ़ें –

                  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here